FOR YOU

आखिर क्यों यहाँ के लोग कराते है मछलियों को नशा, हैरान रह जायेंगे वजह जानकर

Written by naiJobsteam
आपने नशे में धूत इंसानो को देखा होगा, लेकिन कभी नशे में धूत मछलियों को नहीं देखा होगा | वैसे आपको भी ये सुनकर थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन बता दे ये सच है | हमारे देश में एक स्थान पर मछलियों को नशा कराकर पकड़ा जाता है |
मध्यप्रदेश के बालाघाट में रहने वाले आदिवासी मछलियों को नशा देकर उन्हें पकड़ते है | दरअसल देश में चल रहे लॉक डाउन की वजह से यहाँ के आदिवासियों को रोजी-रोटी की समस्या का शिकार होना पड़ रहा है | उनके लिए खाने का प्रबंध कर पाना बेहद ही कठिन साबित हो रहा है |
ऐसे में ये लोग आस पास पायी जाने वाली मछलियों से अपना पेट भर रहे है | इन मछलियों को पकड़ने के लिए इन लोगो ने बेहद ही ख़ास तरकीब भी खोजी है, जिसके चलते ये एक फल से मछलियों को नशा देकर बेहोश करते है और फिर उन्हें पकड़ लेते है |
जिस फल का नशा ये मछलियों को देते है, उसका नाम टोंडरी है | बता दे ये आस पास के जंगलो में आसानी से मिल जाता है | ये लोग इस फल को कूटकर बारीक कर लेते है | फिर आस पास के नदी, नालो और तालाबों में डाल देते है | इसके बाद जब ये मछलियां इसके सम्पर्क में आती है, तो वे बेहोश हो जाती है और ये लोग उन्हें पकड़ लेते है |
बता दे ये लोग प्रकृति के बेहद करीब रहते है | इनका रहन सहन आज भी प्राचीन तौर तरीको पर निर्भर है | बता दे इनका ये मछली पकड़ने का तरीका भी बहुत प्राचीन है |

 

Leave a Comment